नितिन गडकरी का नया खुलासा, 2030 तक भारत में होँगे 2 करोड़ EVs

India भारतीय ऑटो उद्योग में क्रांति लाने के लिए पूरी तरह तैयार है। जब दुनिया ईवी की मांग में जबरदस्त वृद्धि देख रही है, तो भारत को इंतजार क्यों करना चाहिए?

भारत सरकार ईवी को भारतीयों के लिए अधिक सुलभ बनाने की दिशा में काम कर रही है। इसके लिए सरकार भारतीय ऑटोमोबाइल सेक्टर को इलेक्ट्रिक बनाने के मिशन के साथ नई नीतियां बना रही है।

2030 तक भारत में होँगे 2 करोड़ electric vechiles

केंद्रीय मंत्री, नितिन गडकरी ने हाल ही में घोषणा की है कि 2030 तक भारत ईवी बाजार में जबरदस्त वृद्धि देखेगा। उन्होंने आगे कहा कि अनुमान है कि वर्ष 2030 तक, भारत में 2 करोड़ इलेक्ट्रिक वाहन होंगे।

Also read: Ola ला रही है अपनी नयी OLA S1 Air Electric Scooter धमाकेदार offer के साथ

भारत की EV विकास

भारत ने हाल के वर्षों में ईवी की मांग में तेजी से वृद्धि देखी है। साल 2021 में भारत के पास कुल 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन थे। और, वर्तमान में, भारत में देश में 20.8 लाख ईवी हैं जो संख्या में 300% की वृद्धि है।

यूपी में भारत में सबसे ज्यादा ईवी हैं

केंद्रीय मंत्री, नितिन गडकरी ने खुलासा किया कि अकेले यूपी में 4.5 लाख दोपहिया ईवी हैं और भारत में सबसे ज्यादा संख्या है। यह राज्य को 10 लाख से अधिक नई नौकरियां पैदा करने में मदद करेगा।

Also read: रिकॉर्ड तोड़ हो रही Mihos Electric Scooter की बुकिंग

वाहन की स्क्रैपिंग

भारत सरकार 10 से 15 साल पुराने 10 लाख वाहनों को स्क्रैप करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। यह ऑटो कंपोनेंट्स को 30% सस्ता करके भारतीय ऑटोमोबाइल क्षेत्र को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

भारत के पास आबादी से ज्यादा वाहन होंगे

भारत का ऑटोमोबाइल क्षेत्र समय के साथ बड़ा होता जा रहा है। एक अनुमान के मुताबिक भारतीय ऑटोमोबाइल मार्केट 7.8 लाख करोड़ का है। भारत इस सेक्टर को 15 लाख करोड़ की इंडस्ट्री से भी बड़ा बनाने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।

नितिन गडकरी ने यह भी खुलासा किया कि भारत की आबादी 10 साल में घट जाएगी और एक परिवार में 3 सदस्य होंगे। मुंबई और दिल्ली के ट्रेंड के अनुसार हर परिवार के पास 5 वाहन होंगे।

ये भी पढ़े: 100 Km सिंगल चार्ज में दौड़ेगा Techo Electra Emerg E- Scooter

Leave a Comment